घातक हो सकता है पेनिस फंगल इंफेक्शन

पुरुषों के लिंग यानी पेनिस में कई वजहों से पेनिस फंगल इंफेक्शन हो सकते हैं। पेनिस फंगल इंफेक्शन बहुत आम हो सकते हैं, जो थोड़ी से देखभाल पर आसानी से ठीक भी हो जाते हैं। लेकिन, कुछ परिस्थितियों में यह घातक भी हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं पेनिस फंगल इंफेक्शन क्या, इसके लक्षण क्या हैं और इसका इलाज किस तरह से किया जा सकता है

www.drnagi.com

पेनिस फंगल इंफेक्शन के लक्षण

पेनिस के हेड एरिया में रेडनेस होना, सूजन होना, खुजली होना, लगातार दर्द होना, पेनिस की टिप से मवाद आना, पेनिस से बदबू आना, पेशाब के दौरान दर्द,

पेनिस फंगल इंफेक्शन के कारण

पेनिस फंगल इंफेक्शन के कई कारण हो सकते हैं। हालांकि, साफ-सफाई का ध्यान न रखना सबसे आम कारणों में से एक होता है।

पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन-  पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन से पीड़िता महिला के साथ संबंध बनाने पर इसका खतरा सबसे अधिक फैल सकता है, जिसे असुरक्षित सेक्स भी कहा जाता है। इसलिए संबंध बनाने से पहले महिला और पुरुष दोनों अपने शारीरिक स्वास्थ्य की जांच जरूर करवाएं।

डायबिटीज-  डायबिटीज और टाइप 2 से पीड़ित पुरुषों में पेनिस फंगल इंफेक्शन का खतरा सबसे अधिक रहता है।

साफ-सफाई पर ध्यान न देना-  अक्सर लोग सेक्स करने के बाद सोना पसंद करते हैं लेकिन, सेक्स करने से पहले और बाद में शरीर को साफ करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से एक दूसरे के निजी अंगों के बैक्टीरिया फैल सकते हैं, जो गंभीर बीमारी का कारण भी बन सकते हैं।

साफ-सफाई न करना- पुरुषों के लिंग पर अक्सर सफेद रंग का एक पदार्थ जमा हो जाता है, जिसे साफ करना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि, यह पदार्थ पेनिस में हर दिन बढ़ता रहता है, जो कई तरह के इंफेक्शन की वजह बन सकता है। इसके लिए जब भी बाथरूम या नहाने जाएं, तो पेनिस हेड को अच्छे से साफ करें। इसे साफ करने के लिए सिर्फ साफ पानी का ही इस्तेमाल करें।

पेनिस फंगल इंफेक्शन का उपचार

स्वच्छता का खास ध्यान रखें, जैसे

–  गुप्तांगों को हमेशा साफ रखें।

– गुप्तांगों में पसीना न हो और हवा मिलती रहे, इसके लिए हमेशा कॉटन के कपड़े पहनें। ऐसे कपड़े या अंडरगार्मेंट्स न पहनें, जिनसे पसीना जमा होता हो।
– सेक्स करने के दौरान,  हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करें,  ताकि यौन जनित रोगों से बचें रहें।

– सेक्स करने के बाद सफाई करें।

– योगर्ट एक नैचुरल प्रोबायोटिक है। अपनी डायट में योगर्ट शामिल करें। यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकेंगे।

  • अगर आपको पेनिस फंगल की समस्या है, तो तुरंत इंटरोकर्स बंद कर दें। अपने साथी से तब तक दूरी बनाएं रखें, जब तक यह समस्या पूरी तरह से ठीक न हो जाएं क्योंकि इसका खतरा आपके साथी को भी हो सकता है।
  • उसके उपचार के लिए डॉक्टर की मदद लें। खुद से या किसी द्वारा बताए गए किसी भी उपचार को करने से बचें। अगर आपको पेनिस फंगल इंफेक्शन से जुड़े किसी भी तरह के लक्षण दिखाई दें, तो अपने डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें। साथ ही, उनसे इसके उपचार के लिए घरेलू उपायों के बारे में भी जानकारी लें, क्योंकि घरेलू उपाय इसके लिए सबसे बेहतर उपचार हो सकते हैं।

Published by Vaidya Vikas Nagi

I am Ayurvedic practioner. Working with full dedication to treat peopel . My aim is to bring healthy future.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: